उत्तर प्रदेश:कानपुर हत्याकांड के आरोपी विकास दुबे को पकड़ने के लिए पुलिस कई टीमें लगी।सात हजार पुलिसकर्मी ऑपरेशन का हिस्सा।।

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on linkedin
Share on telegram
उत्तर प्रदेश:- कानपुर हत्याकांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे के धरपकड़ की कोशिशें तेज़ हो गईं हैं। पुलिस ने ऐलान किया है कि जो शख्स कानपुर मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मियों की मौत के जिम्मेदार कुख्यात अपराधी विकास दुबे की जानकारी देगा, उसे 50 हजार रुपये का इनाम दिया जाएगा।
कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल ने शुक्रवार को इस इनाम की घोषणा की। उन्होंने कहा कि विकास दुबे का ठिकाना बताने वाले का नाम गुप्त रखा जाएगा। फिलहाल, विकास दुबे के बारे में पता लगाने के लिए कई लोगों से गहन पूछताछ की जा रही है।
असल में, कानपुर में चौबेपुर के जिस थाना क्षेत्र में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे ने 8 पुलिस कर्मियों की हत्या को अंजाम दिया है, उसी थाने में उसके के खिलाफ 60 केस दर्ज हैं। कानपुर में इस मुठभेड़ के बाद विकास दुबे यूपी पुलिस का मोस्ट वॉन्टेड बन गया है।
आरोपी का मकान ध्वस्त किया
शनिवार को पुलिस ने कानपुर में 10 पुलिसकर्मियों के हत्या के दोषी विकास दुबे के मकान को कानपुर पुलिस ने उसके मकान को जेसीबी की मदद से पूरी तरीके से ध्वस्त कर दिया।पुलिस ने मकान के सामने पार्क की हुई उसकी गाड़ियों को तोड़ दिए।

थानेदार को सस्पेंड किया गया
कानपुर मुठभेड़ केस में चौबेपुर थाना प्रभारी विनय तिवारी को आईजी मोहित अग्रवाल ने किया सस्पेंड कर दिया है।कानपुर के चौबेपुर में शुक्रवार को हुए घटनाक्रम के मामले में एसओ विनय तिवारी की भूमिका संदिग्ध है।

FOLLOW US

POPULAR NOW

RELATED