SIWAN EXPRESS NEWS

आपके काम कि हर खबर

भारतीय रेलवे: बिहार के 3 रेलवे स्टेशनों को बनाया जाएगा विश्वस्तरीय, 15 स्टेशनों का होंगा विकास, जानिए पूरी योजना

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on linkedin
Share on telegram

Insert Your Ads Here

भारतीय रेलवे: बिहार के 3 रेलवे स्टेशनों को बनाया जाएगा विश्वस्तरीय, 15 स्टेशनों का होंगा विकास, जानिए पूरी योजना।

Indian Railway: भारतीय रेलवे ने ट्रेन की यात्रा को और अधिक बेहतर बनाने के लिए कई तरह के प्रयास किए हैं। अब इसी कड़ी में 15 मुख्य रेलवे स्टेशनों को जोड़ा जा रहा है। अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत रेलवे स्टेशनों को विकसित किया जाएगा। जिसके अंतर्गत रिडेवलपमेंट प्लान से कुछ महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशनों को विश्वस्तरीय बनाया जाएगा।

https://siwanexpress.com/jammu-kashmir-security-forces-killed-2-lashkar/

जिन 3 रेलवे स्टेशनों को वर्ल्ड क्लास बनाने की तैयारियां हैं उसमे, दरभंगा, बापूधाम मोतिहारी और सीतामढ़ी स्टेशन शामिल है। रेलवे द्वारा इसको लेकर तैयारियां शुरू कर दी गईं हैं।

समस्तीपुर रेलमंडल ने रेलवे बोर्ड को प्रस्ताव भेजा

जानकारी के लिए बता दें कि रेल मंत्रालय द्वारा प्रत्येक दिन यात्रियों की सुविधाओं को मद्देनजर रखते हुए नई-नई योजना बनाई जाती है। अब इसी कड़ी में समस्तीपुर रेलमंडल के तीन स्टेशनों को वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन बनाया जाएगा। साथ ही, 15 स्टेशनों का आधुनिक रूप से विकास करने निर्णय लिया गया है। समस्तीपुर रेलमंडल द्वारा समस्तीपुर, सहरसा, जयनगर, रक्सौल, सगौली समेत 15 स्टेशनों का विकास करने के लिए DPR तैयार कर रेलवे बोर्ड को प्रस्ताव भेज दिया गया है।

DRM आलोक अग्रवाल ने जानकारी देते हुए कहा कि अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत सभी मंडलों को 15 स्टेशनों को डिवेलप करने का प्रस्ताव भेजने के लिए कह दिया गया था, जिसका प्रस्ताव बनाकर भेजा जा चुका है।

भारतीय रेलवे: बिहार के 3 रेलवे स्टेशनों को बनाया जाएगा विश्वस्तरीय, 15 स्टेशनों का होंगा विकास, जानिए पूरी योजना
समस्तीपुर रेलवे स्टेशन (फाइल फोटो)

3 स्टेशन बनेंगे विश्वस्तरीय

समस्तीपुर रेलमंडल के दरभंगा, बापूधाम मोतिहारी और सीतामढ़ी इन 3 स्टेशनों को वर्ल्ड क्लास बनाने की तैयारी की जा रही है। इन स्टेशनों पर रेल यात्रियों को एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं दिए जाने का प्लान है। पुनर्विकास योजना के तहत इन तीनों रेलवे स्टेशनों का पूरी तरह से कायाकल्प किया जाएगा। इसको लेकर रेलवे द्वारा सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

रेलवे के अनुसार, दरभंगा, बापूधाम मोतिहारी और सीतामढ़ी स्टेशन की बिल्डिंग को ग्रीन बिल्डिंग का रूप दिया जाएगा। साथ ही, एस्केलेटर एवं लिफ्ट भी लगाए जायेंगे। इसके अलावा फूड प्लाजा, लाउंज और मॉल भी खुलेंगे, इसके साथ कार पार्किंग को भी अत्याधुनिक बनाया जाएगा। साथ ही, स्टेशन के प्लेटफॉर्म तक पहुंचने के लिए यात्रियों को आरामदायक सुविधा भी प्रदान की जाएगी। इन तीनों रेलवे स्टेशनों का विकास रेलवे वर्ष 2065 के अनुसार, आबादी को देखते हुए किया जाएगा।

15 रेलवे स्टेशनों का होंगा विकास

समस्तीपुर रेलमंडल के 15 स्टेशनों पर यात्रियों की आवाजाही और उनसे आने वाली इनकम को मद्देनजर रखते हुए रेलवे द्वारा ऐसे 15 रेलवे स्टेशनों को अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत विकसित किया जा रहा है। इसमे विशेष रूप से समस्तीपुर, सहरसा, मधुबनी, जयनगर, लहेरियासराय, सिमरी बख्तियारपुर, मधेपुरा, सुपौल, बनमनखी, रक्सौल, सगौली, बेतिया, नरकटियागंज, सलौना आदि रेलवे स्टेशन शामिल है।

जिसका प्रस्ताव रेलवे बोर्ड को भेज दिया गया है। इस योजना के तहत रेल यात्रियों को अत्याधुनिक सुविधा भी प्रदान की जाएगी। जैसे कार बाइक पार्किंग के लिए ज्यादा से ज्यादा जगह बनाई जाएगी। स्टेशन पर फ़ूड प्लाजा ओपन किए जाएंगे। फिर से नए सिरे से बिल्डिंग का निर्माण किया जाएगा। इन सभी रेलवे स्टेशनों का विकास आने वाले 20 साल की आबादी को मद्देनजर रखते हुए किया जाएगा।

अधिकारी ने क्या जानकारी दी?

समस्तीपुर रेलमंडल के DRM आलोक अग्रवाल ने जानकारी देते हुए कहा कि यात्रियों की सुविधाओं को मद्देनजर रखते हुए भारतीय रेलवे द्वारा एक मुहिम चलाई गई है। जिसमें कुछ महत्वपूर्ण स्टेशनों को वर्ल्ड क्लास बनाया जाएगा। साथ ही, जिन स्टेशनों पर भीड़ -भाड़ ज्यादा होती है, उसको भी पहले से अधिक बेहतर ढंग से बनाने का एक प्लान बनाया गया है।

जिसके लिए अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत 15 स्टेशनों का प्रस्ताव मांगा गया है। DRM ने आगे बताया कि मुख्य स्टेशनों के समस्तीपुर, सहरसा, मधुबनी, जयनगर समेत जो बड़े स्टेशन हैं, जिसमें सुधार किए जा सकते है। ऐसे 15 बड़े स्टेशनों को चुना गया है जहां यात्री सुविधाओं को बढ़ाया जा सकता हैं।

Insert Your Ads Here

FOLLOW US

POPULAR NOW