SIWAN EXPRESS NEWS

आपके काम कि हर खबर

किशनगंज के सदर अस्पताल में एक क्लर्क पर मारपीट का लगा आरोप, अस्पताल में हुआ हंगामा

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on linkedin
Share on telegram

Insert Your Ads Here

किशनगंज के सदर अस्पताल में एक क्लर्क पर मारपीट का लगा आरोप, अस्पताल में हुआ हंगामा।

बिहार: किशनगंज के सदर अस्पताल से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने अस्पतालों की सच्चाई को बयां करता है। जहां आरोप है कि वहां के एक सीनियर क्लर्क पद पर वर्षों से काम कर रहे रवि रोशन पांडेय ने मरीजों और उनके परिवार वालों के साथ दबंगई दिखाई है।

https://siwanexpress.com/bank-will-private-16-december-this-big-decision/

इस मामले के सामने आने के बाद से अस्पतालों में फैली अव्यवस्था फिर से सबके सामने आ गई है। मिली जानकारी के अनुसार, किशनगंज के सदर अस्पताल में नवजात शिशुओं के लिए बने टीकाकरण केंद्र का पता पूछने पर वहां के सीनियर क्लर्क रवि रोशन पांडेय एक महिला पर भड़क गए। आरोप है कि जब महिला के परिवार वालों ने उनकी इस हरकत का विरोध किया तो उन्होंने पिटाई करनी भी शुरू कर दी।

किशनगंज के सदर अस्पताल में एक क्लर्क पर मारपीट का लगा आरोप, अस्पताल में हुआ हंगामा
किशनगंज के सदर अस्पताल में एक क्लर्क पर मारपीट का आरोप

स्थानीय लोगों ने अस्पताल परिसर में किया हंगामा

इस मामले के विरोध में वहां के स्थानीय लोगों ने अस्पताल के परिसर में हंगामा किया और आरोपी क्लर्क के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। मिली जानकारी के अनुसार किशनगंज शहर के चूड़ीपट्टी निवासी मुहम्मद अबु तालिब अपने नवजात भतीजे को टीका लगवाने के लिए अपनी मां के साथ सदर अस्पताल पहुंचा। जहां, उसकी मां ने अस्पताल के सीनियर क्लर्क रवि रोशन से टीका वार्ड का पता पूछा तो क्लर्क ने महिला के साथ बदतमीजी से बात की। वहीं, महिला का बेटा अबू तालिब ने जब इस बात का विरोध किया तो क्लर्क रवि रोशन ने उसके साथ भी बदतमीजी की और उसकी पिटाई भी कर दी।

पीड़ित परिवार वालों ने सिविल सर्जन से भी शिकायत

पीड़ित परिवार वालों द्वारा लिखित शिकायत एक सिविल सर्जन से किया गया है और आरोपी क्लर्क पर तुरंत कार्रवाई की मांग की है। वहीं, इस मामले के बारे में सिविल सर्जन से पूछे जाने पर उन्होंने चुप्पी साध रखी है और चुपचाप इस मामले की कार्रवाई करने की बात कह रहे हैं, जबकि आरोपी क्लर्क पर इससे पहले भी कई आरोप लगे हुए हैं। उन्हें सदर अस्पताल से ट्रांसफर करने का भी प्रस्ताव डीएस द्वारा भेज दिया गया है, लेकिन सिविल सर्जन ने इस मामले पर पूरी तरह चुप्पी साधे बैठे हुए हैं और आरोपी को बचाने में लगे हुए हैं।

Insert Your Ads Here

FOLLOW US

POPULAR NOW

RELATED