SIWAN EXPRESS NEWS

आपके काम कि हर खबर

||

Cyber Crime News: देश के 35 राज्यों के 28,000 लोगों के साथ हुई 100 करोड़ की ठगी; हरियाणा के ‘नए जामताड़ा’ पर धड़ाधड़ कार्रवाई

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on linkedin
Share on telegram

Insert Your Ads Here

Cyber Crime News: देश के 35 राज्यों के 28,000 लोगों के साथ हुई 100 करोड़ की ठगी; हरियाणा के ‘नए जामताड़ा’ पर धड़ाधड़ कार्रवाई

सार

  • हरियाणा के नूंह में 27-28 अप्रैल की रात 5000 पुलिसकर्मियों की 102 टीमों द्वारा छापेमारी की गई थी।
  • एक साथ जिले के 14 गांवों में छापेमारी की गई थी।
  • इस छापेमारी में तकरीबन 125 संदिग्ध हैकर्स को हिरासत में लिया गया था।
  • जिसमें से 66 आरोपियों की पहचान कर ली गई।
  • जिसके बाद, उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था।
  • साथ ही, जांच में पता चला है कि इन आरोपियों द्वारा 35 राज्यों में 28000 लोगों के साथ ठगी की गई है।

पश्चिम बंगाल: ट्रेनों में चैन स्नैचिंग व चोरी करने वाले पश्चिम बंगाल के गिरोह के आठ सदस्य हुए गिरफ्तार; जाने पूरा मामला

विस्तार

हरियाणा पुलिस द्वारा नूंह में बसे एक नए ‘जामताड़ा’ पर धड़ाधड़ कार्रवाई की गई। जिसमें, तकरीबन 100 करोड़ रुपये की साइबर फ्रॉड का खुलासा किया गया है। इस ठगी के काम को फर्जी सिम, आधार कार्ड आदि चीजों के जरिए देशभर में अंजाम दिया जा रहा था। इतना ही नहीं इन ठगों द्वारा फर्जी बैंक अकाउंट खोला गया था, जिसमें ठगी के पैसे ट्रांसफर किए जाते थे, जिससे पुलिस इन तक पहुंच न सके। इन जालसाजों ने दिल्ली से लेकर अंडमान-निकोबार तक लोगों को अपना निशाना बना रखा था। इन ठगों के पकड़े जाने से पूरे देशभर में साइबर क्राइम के तकरीबन 28,000 मामले ट्रेस किए गए हैं।

नूंह के पुलिस अधीक्षक वरूण सिंगला ने जानकारी देते हुए कहा कि 27 और 28 अप्रैल की रात 5000 पुलिसकर्मियों की 102 टीमों द्वारा जिले के 14 गांवों में एक साथ रेड की गई थी। इस रेड में तकरीबन 125 संदिग्ध हैकर्स को हिरासत में लिया गया था। इनमें से 66 आरोपियों की पहचान कर गिरफ्तार कर लिया गया है। सभी हैकर्स को कोर्ट से 11 दिन की रिमांड पर लिया गया था।

गिरफ्तार किए गए ठगों ने पूछताछ में तमाम बड़े खुलासे किए। ठगों ने जानकारी दी कि कैसे वो लोग फर्जी सिम और आधार कार्ड के का इस्तेमाल कर नई नई तकनीकों से लोगों के साथ ठगी किया करते थे। पुलिस रेड में जब्त किए गए मोबाइल फोन और सिम कार्ड की भी जांच कर रही है और इससे संबंधित कंपनियों से भी मदद ले रही है।

28,000 लोगों के साथ ठगी

जांच के दौरान ये बात सामने आई है कि इन साइबर फ्रॉड करने वालों द्वारा अबतक देशभर के 35 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में तकरीबन 28000 लोगों से 100 करोड़ रुपये से अधिक की ठगी की गई है। इस छापेमारी में पकडे़ गए साइबर ठगों के खिलाफ पूरे देशभर में पहले से ही 1346 एफआईआर दर्ज हैं। ऐसे में इन ठगों के बारे में अन्य राज्यों को भी जानकारी दी गई है।

Cyber Crime News: देश के 35 राज्यों के 28,000 लोगों के साथ हुई 100 करोड़ की ठगी; हरियाणा के 'नए जामताड़ा' पर धड़ाधड़ कार्रवाई
साइबर क्राइम में पकड़े गए आरोपी

जांच में सामने आई चीज़े

  • इस जांच के दौरान बैंकों में 219 खातों और 140 UPI खातों की जानकारी सामने आई है।
  • जिनका इस्तेमाल साइबर फ्रॉड के लिए किया जाता था।
  • ये सभी बैंक खाते मुख्य रूप से ऑनलाइन एक्टिव पाये गए हैं।
  • साथ ही, नौकरी देने के बहाने लोगों के साथ धोखाधडी की जाती थी।
  • इसके अलावा आधार कार्ड, पैन कार्ड, मोबाइल नंबर और ऑनलाइन केवाईसी करवाकर भी लोगों को ठगा जा रहा था।

वहीं, टेलीकॉम कंपनियों के एक्टिवेट 347 सिम कार्ड का भी पता चला है। जिसमें –

  • हरियाणा
  • पश्चिम बंगाल
  • असम
  • राजस्थान
  • उत्तर प्रदेश
  • बिहार
  • ओडिशा
  • मध्य प्रदेश
  • दिल्ली
  • तमिलनाडु
  • पंजाब
  • नोर्थ ईस्ट
  • आंध्र प्रदेश और
  • कर्नाटक सर्किल है।

इन सभी सिम का उपयोग साइबर क्राइम के लिए किए जाते थे। जांच में फर्जी सिम और बैंक खातों का मुख्य स्रोत राजस्थान के भरतपुर जिले से जुड़ा हुआ पाया गया है।

फ्रॉड के नए नए तरीकों का प्रयोग

साइबर फ्रॉड करने वाले के तरीकों की जानकारी देते हुए वरुण सिंगला ने कहा कि-

  • ये ठग फेसबुक बाजार, OLX और अन्य कई साइट्स पर एड देकर फ्रॉड करते थे।
  • जैसे – कार, मोबाइल फोन जैसे उत्पादों पर आकर्षक ऑफर का लालच देते और फ्रॉड करते थे।
  • इसके अलावा वर्क फ्रॉम होम का विज्ञापन देकर भी ये लोगों को अपने जाल में फंसाते थे।
  • ये ठग पुराने सिक्को को बेचने और खरीदने के बहाने भी लोगों को ठगते थे।
  • इसके अलावा सेक्सटोरशन के जरिए, KYC, कार्ड ब्लॉक के नाम पर भी ठगी किया करते थे।

रेड में बरामद हुए कई सामान

एसपी ने जानकारी देते हुए कहा कि साइबर क्राइम की गंभीरता को मद्देनजर रखते हुए डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस हरियाणा प्रशांत कुमार अग्रवाल ने 102 पुलिस टीमों का गठन किया, जिसके बाद पूरी क्षमता के साथ 320 टारगेटेड लोकेशन पर एक साथ रेड कर दिया।

रेड के दौरान कई ऐसे सामान बरामद किए गए जो साइबर फ्रॉड में इस्तेमाल किए जाते हैं। जैसे –

  • 166 फर्जी Aadhar Card
  • 5 PAN Card
  • 128 ATM Card
  • 66 मोबाइल फोन
  • 99 SIM
  • 5 POS मशीन
  • 3 लैपटॉप

32 ‘नए जामताड़ा’ का हुआ खुलासा

  • अब तक झारखंड के जामताड़ा को ही साइबर क्राइम का केंद्र माना जाता रहा था।
  • किंतु हाल ही में सरकार द्वारा देश के 9 राज्यों में साइबर क्राइम के केंद्र का खुलासा किया गया है।
  • जिसमें तीन दर्जन से अधिक गांव और शहर शामिल हैं।
सरकार के अनुुसार, देश के 9 राज्यों-
  • हरियाणा
  • दिल्ली
  • झारखंड
  • बिहार
  • पश्चिम बंगाल
  • असम
  • उत्तर प्रदेश
  • गुजरात और
  • आंध्र प्रदेश में साइबर क्राइम के हॉटस्पॉट हैं।

इनमें हरियाणा के मेवात, भिवानी, नूह, पलवल, मनोटा, हसनपुर, हथन गांव भी शामिल थे।

साइबर क्राइम का केंद्र है झारखंड का जामताड़ा

  • बीते कुछ वर्षों में झारखंड का जामताड़ा साइबर फ्रॉड का केंद्र बन गया है।
  • जामताड़ा के कई ऐसे गांव हैं, जहां से अनेकों ठग देश भर में साइबर फ्रॉड की घटनाओं को अंजाम देते हैं।
  • ये ठग अलग-अलग तरीकों से लोगों को अपने झांसे में लेकर उनका बैंक खाता साफ कर देते हैं।
  • जिस कारण यहां के साइबर फ्रॉड पूरे देश में एक चर्चा का विषय बना रहा है।
  • इस विषय और इस जगह पर अभी हाल ही में एक वेब सीरीज भी बनी थी।

Insert Your Ads Here

FOLLOW US

POPULAR NOW

RELATED

Skip to content