SIWAN EXPRESS NEWS

आपके काम कि हर खबर

||

FIR Against Brij Bhushan: बृजभूषण पर छेड़छाड़, बैड टच समेत 10 आरोप, जानें किन धाराओं में हुआ केस दर्ज और कितनी होगी सजा

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on linkedin
Share on telegram

Insert Your Ads Here

FIR Against Brij Bhushan: बृजभूषण पर छेड़छाड़, बैड टच समेत 10 आरोप, जानें किन धाराओं में हुआ केस दर्ज और कितनी होगी सजा

सार

  • रेसलर्स की शिकायत पर बृजभूषण के खिलाफ दर्ज कराए गए 2 FIR।
  • जिसमें आपत्तिजनक फेवर और छेड़छाड़ के कम से कम 10 मामलों की शिकायतें हुई दर्ज।
  • पहली FIR एडल्ट रेसलर्स द्वारा दर्ज कराई गई।
  • दूसरी FIR नाबालिग के पिता ने दर्ज कराई।

BharatPe Fraud Case: पूर्व मैनेजिंग डॉयरेक्टर अशनीर ग्रोवर को लगा जोरदार झटका, दिल्ली हाईकोर्ट की तरफ से नहीं मिली राहत, 80 करोड़ की हेराफेरी का आरोप

विस्तार

Wrestlers FIR Against Brij Bhushan: President of Wrestling Federation of India बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ दर्ज कराई गई दोनों FIR सामने आ गई हैं। FIR में बृजभूषण के खिलाफ छेड़छाड़ और यौन उत्पीड़न के एक या दो नहीं अपितु 10 मामलों दर्ज किए गए है।

इन मामलों में केस दर्ज

  • इसमें बृजभूषण के खिलाफ जबरन यौन संबंध बनाने आरोप लगाया गया है।
  • खिलाड़ियों ने कहा है कि आरोपी ने उनके साथ कई बार छेड़छाड़ की।
  • शिकायत में गलत तरीके से छूना।
  • किसी बहाने से छाती के ऊपर हाथ रखने की कोशिश या हाथ रखना।
  • छाती से पीठ तक हाथ को लेकर जाना।
  • पीछा करना शामिल है।
  • रेसलर्स द्वारा बृजभूषण के खिलाफ कनॉट प्लेस थाने में 21 अप्रैल को शिकायत दर्ज कराई गई थी।
  • रेसलर्स के सुप्रीम कोर्ट जाने के बाद दिल्ली पुलिस द्वारा 28 अप्रैल को दो अलग अलग FIR दर्ज की गई।
  • दोनों ही FIR की कॉपी सामने आ गई है।
FIR Against Brij Bhushan: बृजभूषण पर छेड़छाड़, बैड टच समेत 10 आरोप, जानें किन धाराओं में हुआ केस दर्ज और कितनी होगी सजा
बृजभूषण शरण सिंह (फाइल फोटो)

इन धाराओं के तहत हुआ केस दर्ज

28 अप्रैल को हुई दोनों FIR में इन धाराओं में केस दर्ज।

  • IPC की धारा 354 (महिला की लज्जा भंग करने के इरादे से उस पर हमला या आपराधिक बल प्रयोग)
  • 354ए (यौन उत्पीड़न)
  • 354डी (पीछा करना)
  • 34 (सामान्य इरादे) का हवाला दिया गया है।
  • इन सभी आरोपों में 1 से 3 साल की जेल की सजा का प्रावधान है।
  • पहली FIR में 6 एडल्ट रेसलर्स के आरोप शामिल हैं।
  • इसमें रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (डब्ल्यूएफआई) के सचिव विनोद तोमर का भी नाम शामिल है।

पॉक्सो अधिनियम में तहत 5 साल की जेल

  • दूसरी FIR एक नाबालिग के पिता द्वारा की गई शिकायत पर दर्ज की गई है।
  • यह पॉक्सो एक्ट की धारा 10 के तहत दर्ज की गई है।
  • जिसमें 5 से 7 साल सजा का प्रावधान है।
  • FIR में जिन घटनाओं के बारे में बताया गया है वे कथित तौर पर 2012 से 2022 तक की है।
  • जो देश और विदेश के अलग-अलग हिस्सों में हुईं है।
Red Tape Walking Sports Shoes for Women | Soft Cushioned Insole, Slip-Resistance, Dynamic Feet Support, Arch Support & Shock Absorption
Buy Now

पहली FIR- एडल्ट रेसलर्स द्वारा दर्ज कराई गई

एक रेसलर
  • एक रेसलर ने दर्ज शिकायत में बताया कि एक इंटरनेशनल चैंपियनशिप के दौरान रेस्टोरेंट में खाने के समय बृजभूषण ने मुझे अपनी टेबल पर बुलाया।
  • जिसके बाद, उसने मुझे गलत तरीके से टच किया।
  • साथ ही, छाती से लेकर पेट तक छुआ।
  • रेसलर ने बताया कि इन हरकतों से वह कई दिनों तक डिप्रेशन में थी।
  • इसके कुछ दिनों बाद दिल्ली में स्थित रेसलिंग फेडरेशन के ऑफिस में भी एक बार उसे गलत तरीके से छुआ गया।
  • ऑफिस में बिना मेरी परमिशन के मेरे घुटनों, मेरे कंधों और हथेली को छुआ गया।
  • इसके अलावा, अपने पैर से मेरे पैर को भी टच किया।
  • मेरी सांसों के पैटर्न को समझने के बहाने से छाती से पेट तक टच किया गया।
दूसरे रेसलर
  • दूसरे रेसलर ने बताया कि मैं जब चटाई पर लेटी हुई थी तब आरोपी (बृजभूषण) मेरे पास आया।
  • उस दौरान मेरे कोच वहां नहीं थे।
  • मेरी इजाजत के बिना मेरी टी-शर्ट खींची और अपना हाथ मेरे चेस्ट के ऊपर रख दिया।
  • शिकायत में बताया गया है कि बृजभूषण ने मेरी सांस चेक करने के बहाने अपना हाथ मेरे पेट से नीचे सरका दिया।
एक खिलाड़ी
  • एक खिलाड़ी ने बताया कि मैं अपने भाई के साथ फेडरेशन के ऑफिस थी।
  • मुझे अंंदर बुलाया गया और मेरे भाई को रुकने को कहा गया।
  • कमरे में मुझे जबरदस्ती अपनी ओर खींचा।
  • इसके बाद खिलाड़ी को माता-पिता से बात करने के लिए कहा गया।
  • जिसमें यौन संबंध बनाने के बदले रिश्वत का ऑफर दिया गया।
अन्य दर्ज शिकायत
  • एक शिकायत में कहा गया है कि बृजभूषण ने सांस चेक करने के बहाने नाभि पर हाथ रखा।
  • मैं लाइन में सबसे पीछे थी, तभी गलत तरीके से छुआ, मैने जब दूर जाने का प्रयास किया तो कंधे को पकड़ लिया।
  • फोटो खिंचवाने के बहाने कंधे पर हाथ रखा, मैंने इसका विरोध किया फिर भी हाथ नहीं हटाया।

दूसरी FIR- नाबालिग के पिता ने दर्ज कराई

  • दूसरी FIR नाबालिग के पिता की ओर से दर्ज कराई गई है।
  • जिसमें बताया गया है कि खिलाड़ी द्वारा जब मेडल जीता गया तो आरोपी ने फोटो खिंचवाने के बहाने उसे कस कर पकड़ लिया।
  • साथ ही, उसके कंधे को जोर से दबाया।
  • फिर जानबूझकर आरोपी अपना हाथ उसके कंधे के नीचे ले गया।
  • इसके अलावा, खिलाड़ी के शरीर को गलत तरीके से टच किया।
  • साथ ही, उसने पीड़िता से कहा कि वह उसके टच में रहे तो उसे सपोर्ट करेगा।
  • जिस पर पीड़िता ने साफ तौर पर कहा कि वह अपने दम पर यहां पहुंची है और इसके आगे भी जाएगी।
  • वह उसका पीछा न करे।

Insert Your Ads Here

FOLLOW US

POPULAR NOW

RELATED

Skip to content