SIWAN EXPRESS NEWS

आपके काम कि हर खबर

Haryana Violence: हरियाणा में हिंसा की भड़की आग, इस आग में जले कई इलाके; जानें इससे जुड़ी बड़ी बातें

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on linkedin
Share on telegram

Insert Your Ads Here

Haryana Violence: हरियाणा में हिंसा की भड़की आग, इस आग में जले कई इलाके; जानें इससे जुड़ी बड़ी बातें

सार

  • नूंह में हिंसा के बाद हरियाणा के कई क्षेत्रों में हिंसा भड़क गई है।
  • इस हिंसा को देखते हुए गुरुग्राम समेत सभी जगहों पर धारा-144 लागू कर दी गई है।
  • इसके अलावा, सोशल मीडिया पर भी पूरी नजर रखी गई है।

Firing in Train: जयपुर-मुंबई ट्रेन में पालघर के नजदीक चलती ट्रेन में हुई फायरिंग, हादसे में चार लोगों की हुई मौत; जानें पूरी ख़बर

विस्तार

Haryana Violence: हरियाणा के नूंह में विश्व हिंदू परिषद् की यात्रा को रोकने का प्रयास करने पर हिंसा भड़की थी। इसमें अबतक कुल 5 लोगों की मृत्य की खबर है। इस हिंसा के बाद नूंह जिले के मेवात सहित कई इलाकों में तनाव का माहौल बना हुआ है। जिस कारण गुरुग्राम सहित सभी हिंसा प्रभावित इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया है। साथ ही इंटरनेट भी बंद कर दिया गया है। वहीं, सभी स्कूलों को बंद करने के निर्देश दे दिए गए है।

नूंह की हिंसा गुरुग्राम में

नूंह में हुई हिंसा के बाद गुरुग्राम के सेक्टर – 57 में भीड़ के हमले में एक व्यक्ति की मौत हो गई। वहीं, एक मस्जिद में आग भी लगा दी गई। जिसके बाद पूरे क्षेत्र में धारा-144 लागू कर दी गई है। इस घटना के विषय में पुलिस के एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए कहा कि भीड़ द्वारा गोलियां चलाईं गई। जिस कारण दो लोग घायल हो गए और इनमें से एक की मौत इलाज के दौरान हो गई है। मृतक की पहचान बिहार निवासी साद के रूप में हुई है।

Haryana Violence: हरियाणा में हिंसा की भड़की आग, इस आग में जले कई इलाके; जानें इससे जुड़ी बड़ी बातें
गुरुग्राम में जलाई गई अनेकों गाडियां (सोशल मीडिया फोटो)

हिंसा में दो होमगार्ड की हुई मौत

नूंह जिले में हुई हिंसा में घायल हुए दो और लोगों ने दम तोड़ दिया है। मरने वालों की पहचान होमगार्ड नीरज और गुरसेवक और भादस गांव निवासी शक्ति के रूप में हुई है। वहीं इस हिंसा में मारे गए चौथे व्यक्ति की अभी तक पहचान नहीं हो पाई है। इस हिंसा के दौरान 23 लोग घायल हुए, जिसमें 10 पुलिसकर्मी शामिल हैं। पुलिस द्वारा इस मामले में 11 FIR दर्ज की गई हैं। वहीं, 27 लोगों को हिरासत में ले लिया गया है। हिंसा के दौरान तकरीबन 50 वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया। अभी फिलहाल पूरे जिले में कर्फ्यू लगा दिया गया है और इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है।

अर्धसैनिक बलों की हुई तैनाती

हरियाणा के नूंह में कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए अर्धसैनिक बलों की 15 कंपनियां तैनात की गई हैं। वहीं, नूंह में बढ़ते हिंसा के मामले को मद्देनजर रखते हुए केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा अर्धसैनिक बलों को तैनात करने का निर्णय लिया गया। इसकी मांग केंद्रीय गृह मंत्रालय से राज्य सरकार द्वारा की गई थी। साथ ही, हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की नूंह जिले में होने वाली 1 और 2 अगस्त की परीक्षा को स्थगित कर दिया गया है।

हरियाणा हिंसा (सोशल मीडिया फोटो)

वाहनों और दुकान को किया आग के हवाले

मुस्लिम इलाके नूंह में हिंसा का मामला फैलते ही, समीप के सोहना इलाके में भी हिंसा की खबर सामने आने लगीं। भीड़ द्वारा कई वाहनों और एक दुकान को आग के हवाले कर दिया गया। इस हिंसा के बाद सोहना में भी भारी सुरक्षाबलों को भेजा गया है। नूंह और हिंसा से प्रभावित अन्य इलाकों में बड़ी संख्या में पुलिस और अर्धसैनिक बलों की कई कंपनियां तैनात की गई हैं। अभी फिलहाल हिंसा की कोई नई घटना सामने नहीं आई है।

सख्त कार्यवाही की जायेगी: हरियाणा सीएम

नूंह और उसके आसपास के क्षेत्रों में हुई हिंसा की घटनाओं को लेकर हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि इस घटना के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने 31 जुलाई को एक ट्वीट कर कहा कि, ‘‘आज की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। मैं सभी लोगों से प्रदेश में शांति बनाए रखने की अपील करता हूं। दोषी लोगों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।’’

नूंह हिंसा (सोशल मीडिया फोटो)

सोशल मीडिया पर लगातार रखी गई है नजर

  • हिंसा की घटनाओं को मद्देनजर रखते हुए पुलिस द्वारा सोशल मीडिया पर नजर रखी गई है।
  • इसके अलावा भड़काऊ पोस्ट को लेकर चेतावनी जारी कर दी गई है।
गुरुग्राम पुलिस द्वारा लोगों से की गई अपील-
  • नूंह (मेवात) में हुई हिंसा में 10 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए है।
  • वहीं, 2 होमगार्ड्स की मौत भी हुई है।
  • इस घटना के विषय में कोई भी हिंसा और उन्माद फैलाने वाला पोस्ट सोशल मीडिया पर ना डालें।
  • ऐसे कोई भी पोस्ट न करे जिससे धार्मिक भावनाओं, आपसी भाईचारे को ठेस पहुंचे और अशांति का माहौल बने।
  • यदि कोई ऐसा करता है तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

इस हिंसा पर विपक्ष ने सरकार को घेरा

  • बीजेपी शासित प्रदेश हरियाणा में हुई इस हिंसा की घटना को लेकर विपक्ष ने खट्टर सरकार को घेर लिया है।
  • AAP ने हरियाणा में हुई इस हिंसा का जिम्मेदार के लिए खट्टर सरकार ठहराया है।
  • वहीं, इस पूरे मामले की जांच करने की मांग की है।

AAP के प्रदेशाध्यक्ष सुशील गुप्ता ने बात करते हुए कहा कि-

  • हम हरियाणा की जनता से अपील करते हैं कि कृपया शांति बनाए रखें।
  • सौहार्दपूर्ण वातावरण बना के रखें, अफवाहों पर बिल्कुल ध्यान न दें।
  • खट्टर साहब कानून व्यवस्था को बनाए रखने में पूर्णतया फेल रहे हैं।
  • हरियाणा और केंद्र में दोनों ही जगह BJP की सरकार है।
  • फिर भी ये कानून व्यवस्था को नहीं संभाल सके।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भी सरकार पर निशाना साधते हुए ट्विटर पर लिखा, हरियाणा की हिंसा, मणिपुर के बाद ‘डबल इंजन’ सरकार की नाकामी का एक और उदाहरण है। सरकार के रूप में भाजपा का इंजन फ़ेल हो गया है।

इन जगहों पर बढ़ाई गई सुरक्षा

हरियाणा में हुई इस हिंसा के बाद कई स्थानों के धार्मिक स्थलों की सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है। वहीं इस हिंसा के बाद पानीपत पुलिस हाई अलर्ट मोड में आ गया है। यहां पर मंदिर और मस्जिदों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। वहीं, पानीपत पुलिस का कहना है कि वे असामाजिक तत्वों के साथ सख्ती से निपटेंगे। साथ ही, हरियाणा के बॉर्डर से सटे भरतपुर में भी प्रशासन अलर्ट मोड पर है। भरतपुर जिले के तहसील नगर, सीकरी, पहाड़ी, कामा में इंटरनेट की सेवा को बंद कर दिया गया है।

इसके अलावा, हरियाणा के फरीदाबाद में भी पुलिस को अलर्ट रखा गया है। इस तनाव भरे माहौल को देखते हुए सभी स्कूलों को बंद रखने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा हिसार में भी सभी स्थानों पर पुलिसबल तैनात किए गए है।

इस घटना को सिलसिलेवार तरीके से समझिए……

  • 1:00 बजे दोपहर: विश्व हिंदू परिषद् की यात्रा पर पथराव, जिसके बाद भड़की हिंसा, जो पूरे नूंह में फैल गई।
  •  3:00 बजे दोपहर बाद: दंगाइयों ने अनाजमंडी में बने साइबर थाने पर हमला कर दिया।
  • 5:00 बजे शाम: गुड़गांव के सोहना स्थित बाइपास पर आग लगाई गई, गोलियां भी चलाई गई।
  • 8:00 बजे रात: प्रशासन द्वारा दोनों समुदाय को आमने सामने बैठाया गया।
  • 8:40 बजे रात: CM द्वारा सोशल मीडिया पर लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की गई।
  • 10:00 बजे रात: केंद्र सरकार द्वारा पैरामिलिट्री फोर्स की 20 कंपनियों को भेजने का फैसला लिया गया।
  • 12:00 बजे रात: नूंह के अलावा अन्य तीन जिलों में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई।
  • 2 बजे रात: नूंह में कर्फ्यू लगाने की सूचना दी गई।
eCraftIndia 'Golden Bal Gopal Krishna Having Makhan' Decorative Showpiece (Metal, 8 cm x 9 cm, Golden, AGK507)
Buy Now

हिंसा भड़कने की वजह

विश्व हिंदू परिषद के अगुआई में हिंदू संगठनों का ब्रज मंडल यात्रा निकालने का कार्यक्रम चल रहा था। यह यात्रा नूंह के नल्हड़ में स्थित नलहरेश्वर मंदिर में जलाभिषेक करने के बाद बड़कली चौक से घूमते हुए फिरोजपुर-झिरका के पांडवकालीन शिव मंदिर और पुन्हाना के सिंगार के राधा कृष्ण मंदिर तक जाने वाली थी।

पुलिस के मुताबिक, दोपहर 1 बजे जब ये यात्रा बड़कली चौक पर पहुंची तो समुदाय के लोगों ने नारेबाजी शुरू कर दी और पथराव करने लगे। जिसके बाद यात्रा में भगदड़ मच गई। उपद्रवियों ने गाड़ियों को पलट दिया और उसमे आग लगा दी।

पुलिस के सामने ही सड़क से गुजरने वाले वाहनों पर पथराव होता रहा। वहीं, कुछ लोग सोशल मीडिया पर वीडियो डालकर मदद मांगते हुए दिखे। ये यात्रा प्रत्येक वर्ष होती है किंतु ये हिंसा पहली बार हुई है।

गुरुग्राम पुलिस ने आर्थिक मदद का किया एलान

गुरुग्राम पुलिस आयुक्त ने एक विज्ञप्ति जारी की है। इसमें कहा गया है, “हमारे दो सहयोगियों, होम गार्ड नीरज और होम गार्ड गुरसेव, जो उस जिले में कानून और व्यवस्था की गड़बड़ी के मद्देनजर गुरुग्राम से नूंह तक तैनात थे, ने अपनी जान दे दी कल ड्यूटी के दौरान। ” हालांकि किसी प्रियजन के नुकसान की भरपाई कोई राशि नहीं कर सकती, लेकिन शोक संतप्त परिवार को 57 लाख रुपये और हरियाणा पुलिस द्वारा सभी सहायता प्रदान की जाएगी।

Insert Your Ads Here

FOLLOW US

POPULAR NOW

RELATED

Skip to content