SIWAN EXPRESS NEWS

आपके काम कि हर खबर

बिहार में बीएड क्वालिफाइड शिक्षकों को छह माह की ट्रेनिंग लेना अनिवार्य।

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on linkedin
Share on telegram

Insert Your Ads Here

बिहार: बिहार में बीएड क्वालिफाइड शिक्षकों को छह माह की ट्रेनिंग लेना अनिवार्य।

राज्य में छठे चरण में नियुक्त की गई पहली से पांचवीं कक्षा तक के बीएड क्वालिफाइड शिक्षकों के लिए ट्रेनिंग प्रोग्राम किया जाएगा। इसके लिए शिक्षा विभाग द्वारा इससे संबंधित शिक्षकों के लिए छह महीने का ब्रिज कोर्स चलाया जाएगा।

जिससे शिक्षकों के शिक्षण कार्य में और अधिक कुशलता लायी जाएगी। छठे चरण में कुल 43 हजार शिक्षको की नियुक्ति की गई हैं जो इस समय प्रारंभिक विद्यालयों में काम कर रहे हैं।

26 नवंबर से जुड़ी तमाम खबरें 

ब्रिज कोर्स नियुक्ति की तारीख से 2 साल के भीतर करना होगा

प्राइमरी एजुकेशन के डायरेक्टर रवि प्रकाश द्वारा बीएड क्वालिफाइड शिक्षकों को ट्रेनिंग देने के लिए ब्रिज कोर्स का प्रस्ताव तैयार किया गया है और इस पर विभाग द्वारा सहमति मिल चुकी है। राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (NCTE) के प्रविधान के अनुसार पहली से लेकर पांचवीं कक्षा के बीएड क्वालिफाइड शिक्षकों के लिए नियुक्ति की तारीख से लेकर दो वर्षों के अंदर अंदर छह महीने के ब्रिज कोर्स को अनिवार्य कर दिया है। लेकिन, शिक्षकों की नियुक्ति के नौ महीने के भीतर ब्रिज कोर्स शुरू नहीं किए जाते है जिस कारण ऐसे में अध्यापकों की परेशानी बढ़ जाती है।

बिहार में बीएड क्वालिफाइड शिक्षकों को छह माह की ट्रेनिंग लेना अनिवार्य।
बिहार में बीएड क्वालिफाइड शिक्षकों की ट्रेनिंग

स्कूल के साथ कलेक्ट्रेट और पुलिस लाइन में वेंडिंग मशीन

माहवारी स्वच्छता प्रबंधन के बारे में विकास आयुक्त की अध्यक्षता में सभी डिपार्टमेंट के साथ हाई लेवल बैठक की गई है। जहां बैठक में पटना सेक्रेटेरियट में 19 महिला शौचालय, सभी जिलों के शहरी इलाकों के 225 कन्या, मध्य व उच्च विद्यालयों के साथ प्रदेश के सभी कस्तूरबा कन्या आवासीय विद्यालय और सभी जिलों के कलेक्ट्रेट और जिला पुलिस लाइन में एक-एक सेनेटरी पैड वेंडिग मशीन एवं भस्मक मशीन लगाने का फैसला लिया गया है। महिला एवं बाल विकास निगम की तरफ से चलाए गए चार दिवसीय आवसीय प्रशिक्षण को शहर के होटल चाणक्या में समाप्त किया गया।

निगम की चेयरमैन सह मैनेजिंग डायरेक्टर हरजोत कौर बम्हरा ने इस बारे में बात करते हुए कहा कि चार दिनों तक चलने वाले इस माहवारी स्वच्छता प्रबंधन कार्यक्रम में हेल्थ, एजुकेशन, सोशल वेलफेयर माइनोरिटी, SC/ ST वेलफेयर डिपार्टमेंट, जीविका से जुड़े महिला ट्रेनर ने भी भाग लेकर जानकारी प्राप्त की। इस कार्यक्रम के लिए यूनिसेफ का भी सहयोग मिला। बम्हरा ने सभी प्रतिभागियों को कहा कि ट्रेनिंग के बाद अन्य लोगो को भी प्रशिक्षित किया जाएगा और माहवारी के बारे में सही जानकारी दी जाएगी।

Insert Your Ads Here

FOLLOW US

POPULAR NOW

RELATED