SIWAN EXPRESS NEWS

आपके काम कि हर खबर

Menstrual Leave: केरला यूनिवर्सिटी में पीरियड्स के दौरान छुट्टी जैसा बड़ा कदम उठाया गया

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on linkedin
Share on telegram

Insert Your Ads Here

Menstrual Leave: केरला यूनिवर्सिटी में पीरियड्स के दौरान छुट्टी जैसा बड़ा कदम उठाया गया।

हाइलाइट

Menstruation Leave: CUSAT की 4,000 से अधिक फीमेल स्टूडेंट्स, महामारी के दौरान छुट्टी के लिए लंबे समय से मांग कर रही थीं। स्टूडेंट्स द्वारा पीरियड्स के दौरान होने वाली मुश्किलों की बात करते हुए अटेंडेंस में छूट की मांग की थी। जिसके बाद, कोचीन यूनिवर्सिटी की फीमेल स्टूडेंट्स को अटेंडेंस में 2% की छूट मिली है।

https://siwanexpress.com/delhi-terrorist-conspiracy-failed-two-hand-granades-found/

विस्तार

Important Decision of Kerala University: केरल की एक यूनिवर्सिटी द्वारा एक बड़ा फैसला लिया गया है। जिसमे, महिला छात्रों को अब उपस्थिति की कमी के लिए एक्स्ट्रा छूट के रूप में महामारी राहत “Periods Benefits” दिए जायेंगे।  कोचीन यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी एक स्वायत्त संस्थान है, जिसमें अलग – अलग स्ट्रीम में 8,000 से ज्यादा छात्र पढ़ते हैं, और आधे से ज्याद छात्र लड़कियां हैं।

नए आदेश में क्या कहा गया है

महिला छात्रों के लिए जारी किए गए एक आदेश में कहा गया है कि “महिला छात्रों को Periods Benefits के अनुरोधों पर विचार करने के बाद, वाइस चांसलर ने अकादमिक काउंसिल को रिपोर्ट करने के अधीन, हर एक सेमेस्टर में महिला छात्रों की अटेंडेंस में कमी के अलावा  2% की मंजूरी देने का आदेश दिया है।” संयुक्त रजिस्ट्रार द्वारा।

छात्र संघ द्वारा Periods Benefits के लिए बनाया गया दबाव

यूनिवर्सिटी के सूत्रों द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, छात्र संघ द्वारा पिछले काफी समय से छात्राओं के ‘ Periods Benefits’ के लिए दबाव बनाए जा रहे थे। छात्र संघ द्वारा इस विषय में औपचारिक प्रस्ताव वाइस चांसलर को सौंपा गया था। इस प्रस्ताव पर स्वीकृति के बाद ये आदेश जारी किया गया है।

Menstrual Leave: केरला यूनिवर्सिटी में पीरियड्स के दौरान छुट्टी जैसा बड़ा कदम उठाया गया
केरला यूनिवर्सिटी में पीरियड्स में मिलेगी छुट्टी

 ‘प्रत्येक छात्रा को दी जाएगी अलग-अलग छूट’

बात करने पर CUSAT के एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए कहा कि अटेंडेंस के आधार पर हर एक छात्र को छूट अलग-अलग छूट दी जाएगी।” यह छूट हर एक छात्र के लिए अलग- अलग होगा। हर महिला छात्र मासिक धर्म के दौरान Periods Benefits के रूप में अपनी टोटल अटेंडेंस का 2 प्रतिशत का दावा कर सकती है। अगर इसके नियम को लेकर किसी तरह की दुविधा हो तो उसे स्पष्ट कर दिया जाएगा।'”अधिकारी द्वारा कहा गया। जारी किया गया यह आदेश यूनिवर्सिटी में पीएचडी के छात्रों  समेत सभी विषयों की छात्राओं पर लागू होगा।

छात्र संघ अध्यक्ष नमिता जॉर्ज ने क्या कहा

छात्र संघ की अध्यक्ष Namitha George ने अपनी खुशी को व्यक्त करते हुए कहा कि उनके द्वारा की गई मांग को विश्वविद्यालय द्वारा बिना किसी आपत्ति के मान लिया गया है। “नियमों के अनुसार, CUSAT छात्रों को परीक्षा में बैठने के लिए हर सेमेस्टर में 75 प्रतिशत अटेंडेंस की जरूरत होती है। लेकिन, अब बनाए गए नए आदेश के अनुसार, छात्राओं को इसमें 2 प्रतिशत की छूट दी जाएगी और हर सेमेस्टर में उनकी एलिजिबल अटेंडेंस को घटाकर 73 प्रतिशत कर दिया गया है।

छात्रों की प्रतिक्रिया

अकादमिक काउंसिल की प्रक्रियात्मक मंजूरी देने के बाद आदेश के लागू होने की उम्मीद की जा रही है। पीएच.डी. की एक छात्र ने कहा कि सभी Higher Education Institutions में एक जैसी व्यवस्था लागू होनी चाहिए। “छात्राओं के लिए periods benefits देने का CUSAT का ये फैसला एक ऐतिहासिक फैसला है। मुझे लगता है कि यह बहुत जरुर है और इसे हर एक कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज में लागू किया जाना चाहिए।”

Insert Your Ads Here

FOLLOW US

POPULAR NOW

RELATED