SIWAN EXPRESS NEWS

आपके काम कि हर खबर

रेल मंत्रालय के फैसले से 1 लाख बिहारी अभ्यर्थियों को लाभ

अब रेलवे का नहीं उठाना पड़ेगा अधिक नुकसान
Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on linkedin
Share on telegram

Insert Your Ads Here

रेल मंत्रालय के फैसले से 1 लाख बिहारी अभ्यर्थियों को लाभ; रेल मंत्रालय के फैसले के बाद NTPC की भर्ती परीक्षा से बिहार के करीब 1 लाख छात्रों को लाभ होगा। 7 लाख से ज्यादा के रिजल्ट आने की संभावना है।

बिहार: भारतीय रेलवे द्वारा हाल ही मे पांच सदस्यीय उच्च स्तरीय कमिटी ने RRB NTPC 2021 और RRB group -d के बारे में अभ्यर्थियों के शिकायतों की जांच कर अपनी रिपोर्ट सौंप दी थी। उम्मीद की जा रही थी कि फैसला अभ्यर्थियों के पक्ष में किया जाएगा। जिसके बाद , रेल मंत्रालय द्वारा लिए गए फैसले से बिहार के करीब 1 लाख अभ्यर्थियों को अभ्यर्थियों को लाभ होने की संभावना बताई जा रही है। 7 लाख से अधिक रिजल्ट आने की भी संभावना है।

रेल मंत्रालय के फैसले से 1 लाख बिहारी अभ्यर्थियों को लाभ
रेल मंत्रालय के फैसले से 1 लाख बिहारी अभ्यर्थियों को लाभ

अब NTPC और ग्रुप -डी के छात्रों को नोटिफिकेशन का इंतजार है। कमेटी में शामिल अधिकारियों का कहना है कि रिजल्ट में बढ़ोतरी के अलावा कुछ अन्य सुधार भी हो सकते हैं। ग्रुप -डी के नोटिफिकेशन में भी बदलाव किए जायेंगे। Up के बाद बिहार एक ऐसा स्टेट है जहां के सबसे ज्यादा अभ्यर्थी रेलवे की परीक्षाओं की तैयारी करते हैं।

रिजल्ट में सुधार करने के बाद रिजल्ट की आधिकारिक घोषणा की जाएगी। इससे पहले शनिवार को रेल मंत्री द्वारा कहा गया था कि समिति तो 3 लाख शिकायते और सुझाव मिले थे। इन सभी बातों के समाधान को जल्द ही नोटिफाई किया जाएगा। सेकंड स्टेज की परीक्षा होली के बाद हो सकती है। ये परीक्षा 3 से5 चरणों में हो सकती है।

ग्रुप -डी में दो चरणों को लेकर थे नाराज अभ्यर्थी 

अभ्यर्थियों में ग्रुप -डी की कंप्यूटर बेस्ड परीक्षा को दो चरणों में लेने को लेकर नाराजगी थी। अभ्यर्थियों का कहना था कि तीन साल बाद परीक्षा हो रही है, उसके बाद से इतने लंबे समय के इंतजार के बाद अब दो चरणों में परीक्षा होना अनुचित है। भर्ती की प्रक्रिया में और अधिक देरी होगी। इसके अलावा ग्रुप -डी के अभ्यर्थियों को मेडिकल में आंखो की जांच अनिवार्य करने पर भी सवाल उठाए गए थे।

रिजल्ट में गड़बड़ी पर किया था आंदोलन

NTPC में 20 गुना रिजल्ट देने की बात कही गई थी लेकिन रिजल्ट बहुत कम आए। इसी बात से नाराज छात्रों ने रिजल्ट के दूसरे दिन आंदोलन शुरू कर दिया। अभ्यर्थियों का कहना था कि 7 लाख अभ्यर्थियों की जगह 7 लाख रोल नंबर जारी किए गए है। इसका मतलब यह है कि एक ही उम्मीदवार को एक साथ अनेकों पद के लिए चुना गया है, इससे दूसरे उम्मीदवारों के लिए मौके ही नही बचते है अगर बचे भी हैं तो बहुत कम।

https://siwanexpress.com/mobile-me-dekhkar-6-ladko-ne-do/

सोशल मीडिया पर शुरू हुई ये जंग सड़क पर पहुंच गया। अभ्यर्थियों ने रेलवे ट्रैक्स जाम कर दिए। जिसके बाद, रेलवे ने अभ्यर्थियों की मांग को लेकर कमेटी गठित की।

 

Insert Your Ads Here

FOLLOW US

POPULAR NOW

RELATED